Connect with us

उत्तर प्रदेश

बड़ी खबर: योगी सरकार में पेश हुआ इतने का बजट, तमाम सुविधाओं से लैस बजट…

लखनऊः उत्‍तर प्रदेश की योगी आद‍ित्‍यनाथ सरकार ने आज विधानमंडल में वित्तीय वर्ष 2022-23 के लिए पहला बजट पेश क‍िया है। व‍ित्‍त मंत्री सुरेश खन्‍ना ने करीब 6 लाख 15 हजार करोड़ रुपए का बजट पेश क‍िया है। बजट में प्रदेश की सुरक्षा व्‍यवस्‍था, मह‍िलाओं की सुरक्षा, युवाओं को नौकरी, क्रष‍ि, सह‍ित सभी सेक्‍टरों में फोकस क‍िया गया है।

मीडिया रिपोर्टस के अनुसार वित्‍तीय वर्ष 2022-23 का बजट पेश करते हुए वित्‍त मंत्री सुरेश खन्‍ना ने निजी ट्यूबवेल के बिजली बिल में 50 प्रतिशत छूट का ऐलान किया। साल में दो मुफ्त रसोई गैस सिलेंडर के चुनावी वादे को पूरा कने के लिए भी बजट का प्रावधान किया गया। वित्‍त मंत्री ने कहा कि चीनी मिल स्थापना के लिए 380 करोड़ के बजट का प्रस्‍ताव है। बांदा कृषि विवि के लिए 8 करोड़ 58 लाख का प्रस्‍ताव है। उन्‍होंने बताया कि प्रदेश में 1.86 लाख लीटर दूध रोज पैदा हो रहा है। दुग्ध उत्पादकों के लिए नंद बाबा पुरस्कार शुरू होगा। मथुरा में 3 हजार लीटर का नया डेयरी प्लांट लगेगा। अयोध्या में सीपेट केंद्र बनाने के लिए 35 करोड़ की व्‍यवस्‍था का प्रस्‍ताव है। स्कूल चलो अभियान में 2 करोड़ छात्रों के नामांकन का लक्ष्य है। समग्र शिक्षा अभियान के लिए 18670 करोड़ की व्‍यवस्‍था का प्रस्‍ताव है। निशुल्क यूनिफॉर्म के लिए 370 करोड़ के बजट का प्रस्‍ताव है। किसानों को कोऑपरेटिव ऋण के लिए 300 करोड़ का प्रस्‍ताव है।

बजट के बड़े ऐलान

-चीनी मिल स्थापना के लिए 380 करोड़ का बजट

– बांदा कृषि विवि के लिए 8 करोड़ 58 लाख

– प्रदेश में 1.86 लाख लीटर दूध रोज पैदा हो रहा है

– दुग्ध उत्पादकों के लिए नंद बाबा पुरस्कार शुरू होगा

– मथुरा में 3 हजार लीटर का नया डेयरी प्लांट लगेगा

– अयोध्या में सीपेट केंद्र बनाने के लिए 35 करोड़

– स्कूल चलो अभियान में 2 करोड़ छात्रों के नामांकन का लक्ष्य

समग्र शिक्षा अभियान के लिए 18670 करोड़

– निशुल्क यूनिफॉर्म के लिए 370 करोड़ का बजट

– किसानों को कोऑपरेटिव ऋण के लिए 300 करोड़

– वाराणसी में संत रविदास और संत कबीर संग्रहालय बनेगा

– दोनों संग्रहालयों को 25-25 करोड़ का बजट मिला

– राम जन्मभूमि मंदिर सड़क निर्माण के लिए 300 करोड़

– अयोध्या में जनसुविधाओं और पार्किंग के लिए 209 करोड़

– वाराणसी में गंगा तट से काशी विश्वनाथ तक सड़क के लिए 77 करोड़

– बनारस में पर्यटन सुविधा के लिए 100 करोड़

– अयोध्या में पर्यटन सुविधा के लिए 100 करोड़

– इस साल वृक्षारोपण अभियान में 35 करोड़ पेड़ लगाए जाएंगे

– गोरखपुर चिड़ियाघर के लिए 50 करोड़ का बजट

– अरबी-फारसी मदरसों को 479 करोड़ का बजट

– अल्पसंख्यक समुदाय छात्रवृत्ति योजना में 795 करोड़

– प्रयागराज लॉ यूनिवर्सिटी के लिए 100 करोड़ का बजट

– इलाहाबाद हाईकोर्ट के लिए 705 करोड़ का बजट

जजों के कोर्ट और आवास के लिए 600 करोड़

– कचहरी में सीसीटीवी कैमरा लगाने के लिए 50 करोड़

– अधिवक्ता कल्याण निधि के लिए 90 करोड़ का बजट

– अधिवक्ता चैंबर निर्माण के लिए 20 करोड़ का बजट

– राज्य आपदा के लिए 2165 करोड़ रुपए की व्यवस्था

– प्राइवेट ट्यूबवेल के बिजली बिल में 50% छूट मिलती रहेगी

– बिजली में रीवैम्प के लिए 31 हजार करोड़ का बजट

गौरतलब है कि योगी सरकार का छठवां और प्रदेश की भाजपा सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला बजट है। बजट के केंद्र में भाजपा का लोक कल्याण संकल्प पत्र होगा जिसमें किये गए वादों को साकार करने की दिशा में कदम बढ़ाकर सरकार वर्ष 2024 में होने वाले लोक सभा चुनाव के लिए पुख्ता जमीन तैयार करेगी। बजट पेश करने से पहले प्रदेश के वित्त मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने अपने आवास पर पूजा पाठ किया।

Latest News -
Continue Reading
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

More in उत्तर प्रदेश

Advertisement

उत्तराखंड

उत्तराखंड
Advertisement

देश

देश

YouTube Channel Pahadi Khabarnama

Our YouTube Channel

ट्रेंडिंग खबरें

Recent Posts

To Top
3 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap