Connect with us

देश

आस्था: पढिये आज मंगल को भगवान हनुमान की महिमा…

धर्म। एक समय कपिवर की प्रशंसा के आनन्द में मग्न श्रीराम ने सीताजी से कहा-“देवी ! लंका विजय में यदि हनुमान का सहयोग न मिलता तो आज भी मैं सीता वियोगी ही बना रहता।”

सीताजी ने कहा-“आप बार-बार हनुमान की प्रशंसा करते रहते हैं, कभी उनके बल शौर्य की, कभी उनके ज्ञान की। अतः आज आप एक ऐसा प्रसंग सुनाइये कि जिसमें उनकी चतुरता से लंका विजय में विशेष सहायता हुई हो।”

यह भी पढ़ें 👉  भीषण हादसाः 200 मीटर गहरी खाई में गिरी बस, स्कूली बच्चों समेत 16 की मौत, मचा कोहराम...

श्रीराम बोले, “ठीक याद दिलाया तुमने। युद्ध में रावण थक गया था। उसके अधिकतर वीर सैनिकों का वध हो चुका था। अब युद्ध में विजय प्राप्त करने का उसने अन्तिम उपाय सोचा। यह था देवी को प्रसन्न करने के लिए चण्डी महायज्ञ।

यज्ञ आरम्भ हो गया। किन्तु हमारे हनुमान को चैन कहाँ ? यदि यज्ञ पूर्ण हो जाता और रावण देवी से वर प्राप्त करने मे सफल हो जाता तो उसकी विजय निश्चित थी। बस, तुरन्त उन्होने ब्राह्मण का रूप धारण किया और यज्ञ में शामिल ब्राह्मणों की सेवा करना प्रारम्भ कर दिया। ऐसी निःस्वार्थ सेवा देखकर ब्राह्मण अति प्रसन्न हुये। उन्होंने हनुमान से वर मांगने के लिए कहा।

यह भी पढ़ें 👉  भीषण हादसाः 200 मीटर गहरी खाई में गिरी बस, स्कूली बच्चों समेत 16 की मौत, मचा कोहराम...

पहले तो हनुमान ने कुछ भी मांगने से इनकार कर दिया, किन्तु सेवा से संतुष्ट ब्राह्मणों का आग्रह देखकर उन्होंने एक वरदान मांग लिया।” “वरदान में क्या मांगा हनुमान ने ?” सीताजी के प्रश्न में उत्सुकता थी।

यह भी पढ़ें 👉  भीषण हादसाः 200 मीटर गहरी खाई में गिरी बस, स्कूली बच्चों समेत 16 की मौत, मचा कोहराम...

श्रीराम बोले, “उनकी इसी याचना में तो चतुरता झलकती है। “जिस मंत्र को बार बार किया जा रहा था, उसी मंत्र के एक अक्षर का परिवर्तन का हनुमान ने वरदान में मांग लिया और बेचारे भोले ब्राह्मणों ने “तथास्तु” कह दिया। उसी के कारण मंत्र का अर्थ ही बदल गया, जिससे कि रावण का घोर विनाश हुआ।”

Latest News -
Continue Reading
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

More in देश

Advertisement

उत्तराखंड

उत्तराखंड
Advertisement

देश

देश

YouTube Channel Pahadi Khabarnama

Our YouTube Channel

ट्रेंडिंग खबरें

Recent Posts

To Top
0 Shares
Share via
Copy link
Powered by Social Snap